Best Hindi Jokes

Majedaar Hindi Jokes Collection

Hindi Jokes 2016 – शिष्य अपने गुरु

शिष्य अपने गुरु से- आचार्यजी शिव का धनुष किसने तोडा था?
गुरु- बेटा रामजी ने तोडा था।
शिष्य( सर खुजाते हुए)- लेकिन आचार्यजी माँ तो कह रही थी की धनुष रघुनन्दन ने तोडा था। इसका मतलब आप को ठीक से नहीं पता।
गुरु(मुस्कुराते हुए)- बेटा वो भी ठीक कह रही थी। राम और रघुनन्दन एक ही व्यक्ति के नाम है। उनको ही रघुनन्दन राम कहते है।
शिष्य- तो फिर पिताजी ने ये क्यों बोला की धनुष दसरथपुत्र ने भंग किया था। शायद वो जादा पढ़े नही इसलिए कुछ नही जानते।
गुरु(अब कुछ क्रोधित होते हुए)- अरे वो भी उनका ही नाम है। राम ही दसरथ पुत्र है। उन्होंने ही धनुष भंग किया था।
शिष्य(अब कुछ परेशान होते हुए)- आचार्यजी एक छोटा सा प्रश्न उसके भी इतने सारे उत्तर अब मै तो कंफ्यूज हो गया हूँ।
अब एक ही शिव धनुष को कोई कहता है की राम ने तोड़ा, कोई रघुनन्दन बोलता है। कोई सियापति बोलता है कोई दसरथ पुत्र। अब बताओ मै सही किसको मानू।
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🤗😀

Updated: September 20, 2016 — 9:46 pm
Best Hindi Jokes © 2016