Best Hindi Jokes

Majedaar Hindi Jokes Collection

Category: Best Hindi Jokes

best funny jokes hindi, comedy jokes, fresh hindi jokes, funny chutkule for whatsapp, hansi majak wale chutkule, hasgule hindi mein, hindi chutkula, hindi chutkule, hindi jokes, hindi jokes 2016, hindi jokes for whatsapp, hindi latife, latest chutkule, latest hindi jokes, majakiya jokes, majedaar hindi chutkule, majedar hindi jokes, majedar latife, mast chutkule, mast hindi jokes, standup comedy jokes hindi mein, whatsapp hindi jokes, क्लीन जोक्स, बेस्ट हिंदी जोक्स, मजाकिया चुटकुले, मजेदार चुटकुले, मजेदार हिंदी जोक्स, मस्त हिंदी जोक्स, व्हाट्सएप्प हिंदी जोक्स, साफ़ सुथरे जोक्स, हसगुल्ले, हँसी का फव्वारा, हिंदी चुटकुले, हिंदी जोक्स, हिंदी जोक्स बच्चो के लिए, हिंदी लतीफे

Funny Chutkule In Hindi – पापा बेटा तुम्हारे रिजल्ट

पापाः बेटा तुम्हारे रिजल्ट का क्या हुआ?

पप्पुः पापा 80% आये है ।

 

पापाः पर मार्कशीट पर 40% लिखा है?

पप्पूः बाकी के 40% आधारकार्ड लिंक होनेपर सीधे अकाऊंट में आएंगे।

 

पापा बेहोश!

Funny Chutkule In Hindi – अगर बारिश हो तो

अगर बारिश हो तो

बारिश में नहाती युवतियां,

 

अगर गर्मी हो तो

धूप में तपती युवतियां,

 

अगर एग्जाम हो तो

परीक्षा देती युवतियां,

 

अगर ट्रैफिक हो तो

जाम में फंसी युवतियां,

 

अगर मौसम अच्छा हो तो

मौसम का लुत्फ उठाती युवतिया

 

साला अखबार वालों

को लड़के नजर क्यों नही आते ।।

 

जरा सी बारिश हुई नहीं कि अखबार में भीगती हुई

लड़िकयों की फोटो आ जाती है…

 

जैसे लड़के तो वाटरप्रूफ पैदा हुए है।

Funny Chutkule In Hindi – मार्टिन लूथर ने कहा था

मार्टिन लूथर ने कहा था…

 

“अगर तुम उड़ नहीं सकते तो, दौड़ो !

अगर तुम दौड़ नहीं सकते तो, चलो !

अगर तुम चल नहीं सकते तो, रेंगो !

पर आगे बढ़ते रहो !”

 

एक बिहारी (खैनी ठोकते हुए):

ऊ.. सब त ठीक बा.. लूथर भाई…

लेकिन.. मरदे.. ई बताबा कि ..जाए के कहाँ बा…

Funny Chutkule In Hindi – डॉक्टर डिप्रेशन की पेशेंट से

डॉक्टर : डिप्रेशन की पेशेंट से-

 

क्या तकलीफ़ है..?

 

लेडी पेशेंट : सर, दिमाग में बहुत उल्टे पुलटे विचार आते हैं, रुकते ही नहीं…

 

डॉक्टर : कैसे विचार आते हैं ..?

 

लेडी पेशेंट : जैसे अब मैं यहाँ आई हूँ तो आपके ओपीडी में एक भी पेशेंट नहीं था.. तो मैं सोचने लगी कि डॉक्टर साहब के पास कोई भी पेशेंट नहीं है, इनकी कमाई कैसे होगी, घर कैसे चलेगा, इतना पैसा डाला पढ़ाई में, अब क्या करेंगे.. हॉस्पिटल बनाने में भी बहुत पैसा लगाया होगा, अब लोन कैसे चुकाएंगे ? कहीं किसानों के माफ़िक लटक तो नहीं जाएंगे एक दिन…!! ऐसे कुछ भी विचार आते रहते हैं…

 

अब डॉक्टर डिप्रेशन मे है।

Funny Joke In Hindi For Whatsapp – लड़का रो क्यों रही हो

लड़का : रो क्यों रही हो..??

 

लड़की : मेरे मार्क्स बहुत कम आये है…

 

लड़का : बता कितने आये है..??

 

लड़की : सिर्फ 88% ..

 

लड़का :

“भगवान से डर ..

इतने में तो 2 लड़के पास हो जाते है…!

Funny Joke In Hindi For Whatsapp – मुझे भी आज हिंदी बोलने का शौक हुआ

मुझे भी आज हिंदी बोलने का शौक हुआ,

 

घर से निकला और एक ऑटो वाले से पूछा,

 

“त्री चक्रीय चालक पूरे सुभाष नगर के परिभ्रमण में

कितनी मुद्रायें व्यय होंगी ?”

 

ऑटो वाले ने कहा, “अबे हिंदी में बोल रे..”

 

मैंने कहा,

“श्रीमान मै हिंदी में ही वार्तालाप कर रहा हूँ।”

 

ऑटो वाले ने कहा,

“मोदी जी पागल करके ही मानेंगे ।

चलो बैठो कहाँ चलोगे ?”

 

मैंने कहा, “परिसदन चलो”

 

ऑटो वाला फिर चकराया !

“अब ये परिसदन क्या है ?

 

बगल वाले श्रीमान ने कहा,

“अरे सर्किट हाउस जाएगा”

 

ऑटो वाले ने सर खुजाया बोला,

“बैठिये प्रभु”

 

रास्ते में मैंने पूछा,

“इस नगर में कितने छवि गृह हैं ??”

 

ऑटो वाले ने कहा, “छवि गृह मतलब ??”

 

मैंने कहा, “चलचित्र मंदिर”

 

उसने कहा, “यहाँ बहुत मंदिर हैं …

राम मंदिर,

हनुमान मंदिर,

जगन्नाथ मंदिर,

शिव मंदिर”

 

मैंने कहा,

“भाई में तो चलचित्र मंदिर की

बात कर रहा हूँ जिसमें नायक तथा नायिका प्रेमालाप करते हैं …”

 

ऑटो वाला फिर चकराया,

 

“ये चलचित्र मंदिर क्या होता है ??”

 

यही सोचते सोचते उसने सामने वाली गाडी में टक्कर मार दी

 

ऑटो का अगला चक्का

टेढ़ा हो गया और हवा निकल गई।

 

मैंने कहा,

“त्री चक्रीय चालक तुम्हारा अग्र चक्र तो वक्र हो गया …”

 

ऑटो वाले ने मुझे घूर कर देखा

और कहा, “उतर जल्दी उतर !

 

आगे पंचर की दुकान थी

हम ने दुकान वाले से कहा….

 

हे त्रिचक्र वाहिनी सुधारक महोदय

कृप्या अपने वायु ठूंसक यंत्र से मेरे त्रिचक्र वाहिनी के द्वितीय चक्र में वायु ठूंस दीजिये धन्यबाद

 

दूकानदार बोला कमीने सुबह से बोनी नहीं हुई और तू शलोक सुना रहा है।

 

मजा आये तो हसने मे कंजुसी बिल्कुल मत करना !

Funny Joke In Hindi For Whatsapp – गब्बर सिंह का चरित्र चित्रण

गब्बर सिंह का चरित्र चित्रण

  1. सादा जीवन, उच्च विचार: उसके जीने का ढंग बड़ा सरल था,

पुराने और मैले कपड़े, बढ़ी हुई दाढ़ी, महीनों से जंग खाते दांत और पहाड़ों पर खानाबदोश जीवन,

जैसे मध्यकालीन भारत का फकीर हो | जीवन में अपने लक्ष्य की ओर इतना समर्पित कि ऐशो-आराम और विलासिता के लिए एक पल की भी फुर्सत नहीं, और विचारों में उत्कृष्टता के क्या कहने! ‘जो डर गया, सो मर गया’ जैसे संवादों से उसने जीवन की क्षणभंगुरता पर प्रकाश डाला था |

 

२. दयालु प्रवृत्ति: ठाकुर ने उसे अपने हाथों से पकड़ा था, इसलिए उसने ठाकुर के सिर्फ हाथों को सज़ा दी!

अगर वो चाहता तो गर्दन भी काट सकता था, पर उसके ममतापूर्ण और करुणामय ह्रदय ने उसे ऐसा करने से रोक दिया |

 

  1. नृत्य-संगीत का शौकीन: “महबूबा ओये महबूबा” गीत के समय उसके कलाकार ह्रदय का परिचय मिलता है| अन्य डाकुओं की तरह उसका ह्रदय शुष्क नहीं था, वह जीवन में नृत्य-संगीत एवंकला के महत्त्व को समझता था | बसन्ती को पकड़ने के बाद उसके मन का नृत्यप्रेमी फिर से जाग उठा था, उसने बसन्ती के अन्दर छुपी नर्तकी को एक पल में पहचान लिया था |

गौरतलब यह कि कला के प्रति अपने प्रेम को अभिव्यक्त करने का वह कोई अवसर नहीं छोड़ता था |

 

  1. अनुशासनप्रिय नायक: जब कालिया और उसके दोस्त अपने प्रोजेक्ट से नाकाम होकर लौटे तो उसने

कतई ढीलाई नहीं बरती, अनुशासन के प्रति अपने अगाध समर्पण को दर्शाते हुए उसने उन्हें तुरंत सज़ा दी |

 

  1. हास्य-रस का प्रेमी: उसमें गज़ब का सेन्सऑफ ह्यूमर था | कालिया और उसके दो दोस्तों को मारने से पहले उसने उन तीनों को खूब हंसाया था, ताकि वो हंसते-हंसते दुनिया को अलविदा कह सकें |

वह आधुनिक युग  का ‘लाफिंग बुद्धा’ था |

 

  1. नारी के प्रति सम्मान: बसन्ती जैसी सुन्दर नारी का अपहरण करने के बाद उसने उससे एक नृत्य का निवेदन किया | आज-कल का खलनायक होता तो शायद कुछ और करता |

 

  1. भिक्षुक जीवन: उसने हिन्दू धर्म और महात्मा बुद्ध द्वारा दिखाए गए भिक्षुक जीवन के रास्ते को अपनाया था | रामपुर और अन्य गाँवों से उसे जो भी सूखा-कच्चा अनाज मिलता था, वो उसी से अपनी गुजर-बसर करता था, सोना, चांदी, बिरयानी या चिकन मलाई टिक्का की उसने कभी इच्छा ज़ाहिर नहीं की |

 

  1. सामाजिक कार्य: डकैती के पेशे के अलावा वो छोटे बच्चों को सुलाने का भी काम करता था, सैकड़ों माताएं उसका नाम लेती थीं, ताकि बच्चे बिना कलह किए सो जाएं ! सरकार ने उसपर 50,000 रुपयों का इनाम घोषित कर रखा था, उस युग में ‘कौन बनेगा करोड़पति’ ना होने के बावजूद लोगों को रातों-रात अमीर बनाने का गब्बर का यह सच्चा प्रयास था |

 

  1. महानायकों का निर्माता: अगर गब्बर नहीं होता

तो जय और वीरू जैसे लुच्चे-लफंगे छोटी-मोटी चोरियां करते हुए स्वर्ग सिधार जाते,

पर यह गब्बर के व्यक्तित्व का प्रताप था कि उन लफंगों में भी महानायक बनने की क्षमता

जागी|

Best Hindi Jokes © 2016